The 7 Habits of Highly Effective People in Hindi | 7 Habits जो बना सकतीं हैं आपको Successful







You don't decide your future, you decide your habits and your habits decide your future.

आज हम, The 7 Habits of Highly Effective People by Stephen R. Covey बुक की summary हिंदी में पढ़ेंगे और जानेंगे  वो 7 qualities जो किसी भी succesful person के  होते  है ।




Habit 1: Be Proactive (सक्रीय बनिए)


  • Proactive  व्यक्ति हमेशा कोई काम की जिम्मेदारी खुद पर लेना है , वही दूसरी और जो व्यक्ति reactive होते है वो हर काम का ना होने का दोष दुसरो पे देते रहते है।  Reactive  people हमेशा अपने लक को , अपने पेरेंट्स को, politicians को दोष देते रहते है उनके सक्सेस ना हो पाने के लिए।  इसीलिए हमें हमेशा proactive होना चाहिए और कोई भी काम करने की जिम्मेदारी खुद लेनी चाहिए जिससे साहस बढ़ता है और आत्मनिर्भरता भी बढ़ती है।  reseaarch में ऐसा पाया गया है की जो व्यक्ति proactive होते है वो अपने life  में जयादा successful होते है।  

Habit 2: Begin with the End in Mind (अंत को ध्यान में रख कर शुरुआत करें)


  • हमेशा, जब भी आप कोई काम करे तोह अपने end goal को ध्यान में रखकर करे। हम सबको इस दुनिया से एक दिन जाना है ये एक सत्य है,  मनो की आप एक funeral में गए हो लेकिन ये औरो की तरह नहीं है, ये थोड़ा अलग है जिसमे आप अपने funeral में ही गए हो।  अब आप उस टाइम पर अपने लिए क्या क्या बोलना चाहते है , ये एक बहुत ही impactful question है।  क्या आप वो सारी  चीजें अभी कर रहे है जो अपने आप को देखकर बोलना चाहोगे ? जैसे लोगो की मदद करना जिससे आप ये बोल सको की ये बंदा बहुत ही हेल्पफुल था।  अच्छा दोस्त , अच्छा नागरिक।  इसीलिए जब भी आप किसी काम को करे तोह उसके end  goal  को हमेशा ध्यान में रखकर करे।    

Habit 3: Put First Things First (प्राथमिक चीजों को वरीयता दें)


  • हमेशा उस काम को पहले करे जो आपके लिए सबसे जायदा जरुरी है जिससे आपको अपने Goal को achieve करने में मदद मिलेगी।  ऐसा कितनी बार होता है की हम decide करते है कल से excercise और मैडिटेशन करेंगे लेकिन हम कभी भी नहीं करते।  हम उन् कामो में busy  हो जाते है जो हमारे लिए उतना productive नहीं होता है। Author Stephen R. Covey इस बुक में हमें बताते है की कैसे हम अपने काम को devide कर सकते है और उसको कर सकते है।  
  1. Urgent and Important: वैसे काम जिसका डेडलाइन है जैसे एक्साम्स है तोह इसके लिए पढ़ना है  , प्रोजेक्ट submit  करना  etc. इन सब काम को जो इस category में आते है सबसे पहले करना चाहिए।  
  2. Not Urgent But Important: इस category में सारे वैसे काम आते है जो हमें सबसे जायदा जरुरी होता है , जैसे exercise करना , meditation करना , healthy  diet लेना , family time .  इन सब काम के लिए कोई फिक्स्ड deadline  तोह नहीं है but ये बहुत ही important काम है हमारे life में जो हमें करना चाहिए।  
  3. Urgent but not important: जैसे कुछ होते जो अर्जेंट है लेकिन उतना important  नहीं है , टाइम पर खाना खाना , नहाना  इत्यादि।  
  4. Not urgent , not important: जैसे फेसबुक और व्हाट्सप्प में busy रहना , घंटों बिना मतलब के दोस्तों के बातें करना इत्यादि।  हमें हमेशा ऐसे काम नहीं करना चाहिए जो ना की urgent हो और ना हीimportant  हो।  

Habit 4: Think Win-Win (हमेशा जीत के बारे में सोचें)


  • हम जब भी कोई काम करते है तोह competetions जरूर होते है , ऐसे time में हमें हमेशा win -win technique को use करना चाहिए जिससे दोनों का फयदा हो , जैसे अगर आप किसी एग्जाम की तयारी कर रहे है और आपके साथ आपके दोस्त भी उसी एग्जाम की तयारी कर रहे है।  अगर आपके दोस्त को कोई topics  समझ नहीं आता है तोह आपको उसकी हेल्प करनी चाहिए जिससे आप दोनों का फायदा होगा , आपका कांसेप्ट और clear होगा और उसे topic समझ आ जाएगा , next time जब आपको जरुरत पड़ेगी तोह वो भी हेल्प करना चाहेगा आपका।  

Habit 5: Seek First to Understand, Then to Be Understood (पहले दूसरों को समझो फिर अपनी बात समझाओ)

  • Suppose  करो आप एक बार आप एक आँख के डॉक्टर के पास जाते हो और उसको बोलते हो की आपको कुछ दिन से बराबर दिखाई नहीं दे रहा है , इतने में वो डॉक्टर अपना चश्मा निकालकर आपको दे देता है जिसको पहनने के बाद आपको और कम दिखाई देने लगता है।  अब शायद  ही आप उस डॉक्टर के पास फिर से जाओ।  हम भी अपने लाइफ में कुछ ऐसाही होते है , बिना अगले वाले को समझे बिना , उसके प्रोब्लेम्स को analyse किये बिना उनको हम suggestions  देने लगते है। इसीलिए जब भी आप किसी से बात करे या कुछ भी  सलाह देने से पहले या कुछ बोलने से पहले उनके प्रोब्लेम्स को समझने की कोशिश करे या उसने ऐसा क्यों कहा इस बात को समझने की कोशिश करे जिससे वो व्यक्ति भी अच्छा feel   करेगा और वो भी आपको भी समझने की कोशिश करेगा, जिससे आपकी bonding  बढ़ेगी।    

Habit 6: Synergise (ताल-मेल बैठाना)


  •  Synergy की हैबिट हमें मिलकर as a team काम करने के लिए encourage करती है।  अगर simple भाषा में समझाऊ तोह synergy का मतलब है यहाँ "Team  Work" से।  जब भी हम  किसी काम को टीम में करते है तोह काम आसान हो जाता है और जल्दी भी हो जाता है।  अकेले एक आर्मी अफसर बॉर्डर पर सुरक्षा नहीं कर सकता इसीलिए हमारी आर्मी टीम में होती है , आप अकेले किसी बड़े प्रोजेक्ट को efficiently नहीं कर सकते , इसीलिए कॉर्पोरेट ऑफिसेस में हमेशा प्रोजेक्ट्स को टीम में किया जाता है जिससे किसी भी काम को आसानी से और जल्दी से किया जा सके।   


Habit 7: Sharpen the Saw ( कुल्हाड़ी को तेज करें)

  • एक बार एक व्यक्ति बहुत देर से अपने कुल्हाड़ी से एक पेड़ काट रहा था लेकिन वो कट नहीं रहा था , तभी वहां  से गुजर रहे एक लकड़हारे  ने बोला की अपने कुल्हाड़ी को तेज़ धार कर ले पहले।  लेकिन वो व्यक्ति बोला इसमें तोह टाइम लगेगा। हमलोग  भी लाइफ कुछ इसी तरह जीते है , हम 30 min daily exercise नहीं कर सकते ताकि हमेशा health अच्छा रहे।  20min कोई किताब नहीं पढ़ते जिससे हम कुछ नया सीखते रहे और अपने जीवन में आगे बढे। और फिर बाद में अपने आप को कोश्ते रहते है की हमारी लाइफ में तोह कुछ भी अच्छा नहीं हो रहा है। Habit 7: Sharpen the Saw इस बात पर जोर देता है की अपने आप को बेहतर बना सके।    बुक में author बताते है की हमें अपने जीवन सक्सेस पाने के  लिए 4 छेत्रो में जायदा धायण देना चाहिए। 
  1. Physical
  2. Social/Emotional 
  3. Mental
  4. Spiritual 
     अगर हम इन् चार छेत्रो में अपने आप को अच्छा रखेंगे तोह हमारे लिए सक्सेस पाना आसान हो जाएगा ठीक वेसहि जैसे  एक तेज़ कुल्हाड़ी से पेड़ काटना।   


                                                      


अगर आपको ये book summary  हिंदी में अच्छी लगी तोह हमें comment में बताये और अपने दोस्तों के साथ शेयर करे। 
आप इस किताब को The 7 Habits of Highly Effective People by Stephen R. Covey ऊपर  दिए गए Image  Link को क्लिक करके खरीद सकते है । 
Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment